Home Blog SEO कैसे करें हिंदी में 2021 | how to do seo in...

SEO कैसे करें हिंदी में 2021 | how to do seo in hindi

Advertisement

एक वेबसाइट या ब्लॉग को बनाने के बाद दिमाग में एक ही सवाल होता है SEO कैसे करे। वेबसाइट को सफल बनाने में seo का बहुत ही योगदान होता है।

पर seo न तो आसान होता है न ही कठिन होता है, जो चीज़ ऐसी होती है उसको करने में बहुत ही मजा आता है।

seo की मदद से google से बहुत से लोगो को अपने ब्लॉग पर लाया जा सकता है। लोगो को अपने ब्लॉग की मदद से उनकी समस्या का संधान किया जा सकता है।

या फिर अपने ब्लॉग की मदद से किसी दूसरे कंपनी का सामान बिकवाया जा सकता है, या फिर खुद का कोई सामान बेचा जा सकता है।

seo की एक और खास बात होती है कि seo बिलकुल ही फ्री होता है। seo के लिए कुछ भी पैसा नहीं देना होता है।

पर हम आपको यह भी बता दे कि seo को करवाने या seo को आसान करने के लिए कुछ पैसा खर्च करना होता है।

अगर आपके पास भी कोई ब्लॉग या वेबसाइट है तो आप भी यही जानना चाहते होंगे कि अपने ब्लॉग का seo कैसे किया जाए।

तो चलिए हम यहाँ जानते है कि seo कैसे किया जाता है और seo करने का आसान तरीका हिंदी में।

यह भी पढ़े: वेबसाइट से पैसे कैसे कमाए हिंदी में

seo क्या होता है?

seo का फुल फॉर्म Search Engine Optimization होता है। हम अपने वेबसाइट को ऐसा बनाते है जो कि सर्च इंजन के लिए समझाना आसान हो जाए, इसको ही seo करना कहा जाता है।

Advertisement

ताकि सर्च रिजल्ट में ऊपर आ सके। दूसरे शब्दों में seo एक ऐसा तरीका होता है जिसकी मदद से अपने ब्लॉग/वेबसाइट को सर्च रिजल्ट में ऊपर लाया जा सकता है।

सर्च रिजल्ट में ऊपर लाने से बहुत से लोग वेबसाइट पर आते है। उसके बाद हम अपने हिसाब से उसको जानकारी दे सकते है, किसी प्रोडक्ट को बेच या प्रमोट कर सकते है, आदि।

seo की मदद से हर एक वेबसाइट ट्रैफिक को हासिल करती है। seo हर एक वेबसाइट को करना होता है।

seo के प्रकार

मुख्य seo के दो प्रकार होते है। पहले seo प्रकार को white hat seo का जाता है तो दूसरे seo प्रकार को black hat seo कहा जाता है।

दोनों ही seo है लेकिन इसमें बहुत से अंतर देखने को मिलता है। एक seo का प्रकार अच्छा होता है तो दूसरा बुरा, चलिए अच्छे से जानते है।

white hat seo in hindi

white hat seo एक seo का प्रकार होता है जिसकी मदद से हम अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन में रैंक करवाते है। white hat seo में हम सर्च इंजन के सभी नियम और शर्त को मानते हुए seo करते है।

जिसके कारण हमें कभी भी कोई समस्या नहीं आती है। पर white hat seo का परिणाम आने में थोड़ा-सा समय लग जाता है।

वह कहते है कि सब्र का फल मीठा होता है। ठीक इसी प्रकार white hat seo भी है।

black hat seo in hindi

black hat seo भी seo का एक प्रकार ही होता है। जिसकी मदद से हम अपने वेबसाइट को सर्च रिजल्ट में ऊपर कर पाते है। black hat seo में हम सर्च इंजन के नियमो को नहीं मानते है।

black hat seo सर्च इंजन को बुद्धू बनाने की कोशिश करता है। black hat seo की मदद दे कोई भी वेबसाइट कम समय में सर्च रिजल्ट में ऊपर आ जाता है।

Advertisement

पर इस समय हर एक सर्च इंजन बहुत ही विकसित हो गई है। वह इस तरह के seo को कम समय में पता कर लेते है।

उसके बाद उस वेबसाइट को दंड दिया जाता है। पूरी बात कि एक बात seo से सफल होने के लिए इस seo का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

seo कैसे करें

how to do seo in hindi

चलिए अब हम यह भी जान लेते है कि seo कैसे करें? seo करने का तरीका हिंदी में।

अच्छे कीवर्ड का इस्तेमाल करें

seo की शुरुआत कीवर्ड ही होता है। हम seo इस लिए ही करते है कि हम किसी कीवर्ड पर सर्च रिजल्ट में सबसे ऊपर आ सके। बहुत से कीवर्ड होते है।

कुछ कीवर्ड में कम्पटीशन ज्यादा होता है तो कुछ कीवर्ड में कम्पटीशन कम होता है। अगर आप नया वेबसाइट शुरू कर रहे है तो आपको ऐसे कीवर्ड पर रैंक करने की कोशिश करना चाहिए।

जिस कीवर्ड में कम्पटीशन कम हो। शुरू में किस भी वेबसाइट की अथॉरिटी कम होती है। जिसके कारण ज्यादा कम्पटीशन वाले कीवर्ड पर रैंक करना मुश्किल होता है।

शुरू के समय में seo के बारे में किसी को भी ज्यादा जानकारी नहीं होता है। इसलिए भी कम कम्पटीशन वाले कीवर्ड का इस्तेमाल करें। आपको कम समय में ही परिणाम मिल जाएगा।

वेबसाइट का schema बनाए

schema गूगल को मदद करता है किसी भी वेबसाइट को और अच्छे से समझने में। schema की मदद से अपनी वेबसाइट के बारे में बहुत सी जानकारी गूगल को दिया जा सकता है।

अगर आप वर्डप्रेस का इस्तेमाल करते है तो आपके यह काम कोई भी एक प्लगइन कर सकते है। schema में वेबसाइट के बारे में मौजूद जानकारी जैसे वेबसाइट का नाम, वेबसाइट का प्रकार, सोशल मीडिया का पेज लिंक वेबसाइट के लिए, वेबसाइट का भाषा, आदि।

बैकलिंक बनाये

बैकलिंक seo करने में बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। आपके वेबसाइट का लिंक किसी दूसरे वेबसाइट में मौजूद हो तो उसे बैकलिंक कहा जाता है। जैसे अगर आपकी वेबसाइट A है, आपके वेबसाइट का लिंक दूसरे वेबसाइट B में मौजूद है।

Advertisement

तो उसे बैकलिंक कहा जाता है। जो भी अथॉरिटी उस B वेबसाइट की होगी उसमे से कुछ अथॉरिटी आपको भी मिल जाएगा। बैकलिंक गूगल को आपके वेबसाइट के बारे में बताता है।

इंटरनल लिंक बनाये

एक्सटर्नल लिंक यानी बैकलिंक से ज्यादा ध्यान इंटरनल लिंक पर दे। एक्सटर्नल लिंक आपके वेबसाइट को रैंक करने में मदद करती है पर इनको बनान थोड़ा मुश्किल होता है।

पर इंटरनल लिंक बनाना काफी आसान होता है। और यह seo में मदद भी करता है। इसके साथ ही आपके वेबसाइट पर आने वाले ट्रैफिक को दूसरे पेज पर भी ले जाता है।

जिसके कारण आपका दूसरा पेज भी गूगल में रैंक करना शुरू कर देता है। इंटरनल लिंक को आप उस कीवर्ड पर ही बनाये जिस पर आप रैंक करना चाहते है।

https का इस्तेमाल करें

http और https दोनों को ही सर्च इंजन अलग-अलग वेबसाइट मानती है। इस समय गूगल में वही वेबसाइट ज्यादा रैंक करती है जो कि https पर है।

आप भी अपने साइट को http से https पर कर ले। इसको फ्री में भी किया जा सकता है। फ्री में करने के बहुत से तरीके है।

लोडिंग स्पीड को बेहतर करें

SEO में लोडिंग स्पीड भी मायने रखता है, गूगल के अनुसार वह वेबसाइट ज्यादा रैंक करता है जिसकी लोडिंग स्पीड अच्छी हो।

लोडिंग स्पीड का असर यूजर experience पर पड़ता है। मान के कि कोई वेबसाइट खुलने में ज्यादा समय लेता है तो यूजर उस वेबसाइट से बैक हो सकता है।

वही जिस वेबसाइट का लोडिंग स्पीड सही होगा तो यूजर के क्लिक करते ही वेबसाइट खुल जाएगी। जिसके बाद यूजर कंटेंट को पढ़ सकता है।

लोडिंग स्पीड को जानने के लिए आप pagespeed insights का इस्तेमाल कर सकते है। यह गूगल का ही एक टूल है।

Advertisement

जो की आपको बता सकता है कि आपकी वेबसाइट लोड होने में कितना समय लेती है और इसको कैसे कम किया जा सकता है।

फ्रेश कंटेंट को डालें

SEO में फ्रेश कंटेंट भी मदद करता है। गूगल के नियम के अनुसार फ्रेश कंटेंट रैंकिंग पर असर डालते है।

आपका कंटेंट जितना ज्यादा फ्रेश रहेगा। उतना ही आपको रैंक करने में आसानी होगी। फ्रेश कंटेंट के साथ ही आप यूजर के हिसाब से ही कंटेंट लिखे।

आपका कंटेंट ऐसा होना चाहिए जो की उस कीवर्ड को सर्च करने वाले की जरूरत पूरी हो सके। हर एक सर्च के पीछे कोई न कोई कारण होता है।

यह भी पढ़े: ब्लॉग के लिए आर्टिकल कैसे लिखे

सोशल मीडिया का इस्तेमाल करें

सोशल मीडिया से आने वाला ट्रैफिक भी गूगल में रैंक करने में मदद करता है। किसी भी नई वेबसाइट को अपना लिंक सोशल मीडिया पर शेयर करना चाहिए।

इसके साथ ही ऐसी ट्रैफिक को ही अपने साइट पर लाए जो कि आपके कंटेंट को पढ़ना चाहते है।

विज्ञापन का इस्तेमाल करें

विज्ञापन की मदद से किसी भी वेबसाइट में ट्रैफिक लाया जा सकता है। कोई भी सर्च इंजन उसी वेबसाइट को रैंक करता है। जिस वेबसाइट को यूजर पसंद करता है।

जिस वेबसाइट पर यूजर की कोई समस्या हल हो जाती है। वेबसाइट पर शुरू में ट्रैफिक लेन का सबसे आसान तरीका विज्ञापन होता है।

विज्ञापन तुरंत ट्रैफिक को वेबसाइट पर भेजती है। विज्ञापन से वही ट्रैफिक आपके वेबसाइट पर आते है जिसका इंटेरसेन्ट आपके वेबसाइट या कंटेंट से हो।

Advertisement

यह आपके SEO को आसान बना देता है। शुरू के कुछ ट्रैफिक के आने के बाद जल्द रैंक होने का उम्मीद बढ़ जाता है।

google search console में आने वाले प्रॉब्लम को खत्म करें

google search console एक बिल्कुल ही फ्री टूल है। जो की बताता है कि आपके वेबसाइट में क्या समस्या है। जैसे वेबसाइट का सही से लोड न होना, फोटो का साइज सही न होना, आदि। इसके साथ ही आपके बैकलिंक के बारे में भी google search console बताता है।

google search console की मदद से आप यह भी जान सकते है कि आपके वेबसाइट को गूगल कितनी बार crwal कर रहा है। crwal के दौरान कौन सी समस्या आ रही है।

यह सभी बेहतर करने से भी SEO पर असर पड़ता है। अपने साइट में आने वाले हर एक समस्या को हल करते रहे। आपकी साइट कम समय में ही रैंक करने लगेगी।

यूजर experience को बेहतर कर दे

आखिरी पर बहुत ही जरूरी, यूजर experience को बेहतर करना। किसी भी वेबसाइट का यूजर experience तय कर देता है कि यह वेबसाइट कितना रैंक कर सकती है।

यूजर experience का सीधा असर SEO पर देखने को मिलता है। जिस भी वेबसाइट का यूजर experience बेहतर होता है वह वेबसाइट ज्यादा रैंक करता है।

वही जिस वेबसाइट का यूजर experience बेकार होता है। वह रैंक नहीं करता है। SEO के सभी भाग में यह बहुत ज्यादा ही मायने रखता है।

यह भी पढ़े: ब्लॉग्गिंग कैसे करे?

अंत के शब्द

SEO कोई नई चीज़ नहीं है। SEO को लम्बे समय से किया जा रहा है। SEO की मदद से वेबसाइट को सफल बनाया जा सकता है।

शुरू में किसी को भी SEO में कई समस्या का सामना करना होता है। यहाँ पर हमने SEO के बारे में बताया है। साथ ही हमने यह भी बताया कि SEO कैसे करें? और SEO के टिप्स हिंदी में।

Advertisement

आप हमें बता सकते है कि आपको यह जानकारी कैसी लगी। साथ ही आप अपने SEO टिप्स के बारे में भी हमारे साथ साझा कर सकते है।

हैल्लो , आपका itwebcompany.com पर स्वागत है। हमें इंटरनेट के बारे में जानकारी देना बहुत ही पसदं है। हम आपको यहाँ blogging, SEO, WordPress, YouTube और Digital marketing के बारे में जानकारी देते है। आप हमें सीधे हमारी Email Id से जुड़ सकते है। हमारा Email id info@itwebcompany.com. किसी तरह की मदद के लिए आप हमें support@itwebcompany.com पर contact करें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version