Home Blog on-page SEO कैसे करें? on-page seo की पूरी जानकारी हिंदी में

on-page SEO कैसे करें? on-page seo की पूरी जानकारी हिंदी में

क्या आपकी वेबसाइट या ब्लॉग है? आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाने के लिए SEO करना चाहते है

SEO के मुख्य दो भाग होते है पहला on-page SEO दूसरा off-page SEO. एक समय पर on-page SEO से ज्यादा ध्यान लोग off-page SEO पर दिया करते थे।

जिसके कारण उनकी वेबसाइट की ट्रैफिक बढ़ जाती थी पर समय के साथ सर्च इंजन में बहुत से बदलाव आए। जिसके कारण अब off-page SEO से ज्यादा महत्व on-page SEO का होता है।

इस समय एक वेबसाइट को Google से Rank करने on-page SEO करना जरुरी होता है।

अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि on-page SEO कैसे करे? चलिए इस पोस्ट में हम आपको on-page SEO के करने और on-page SEO क्या होता है, सब कुछ बताते है।

यह भी जानें: affiliate marketing की पूरी जानकारी

on-page SEO क्या होता है

on-page SEO एक प्रकार का तरीका/तकनीक होता है, जिसके अंतर्गत किसी वेबसाइट या ब्लॉग में काफी बदलाव किए जाते है।

जिसके कारण वह वेबसाइट या ब्लॉग ज्यादा से ज्यादा सर्च इंजन में रैंक करता है। वैसे तो किसी वेबसाइट को सर्च इंजन में रैंक करने बहुत से तकनीक होते है। उसमे से एक on-page SEO भी है।

on-page SEO कैसे करें

on-page SEO कैसे करें

चलिए! अब हम यह भी जान लेते कि on-page SEO कैसे कर सकते है? on-page SEO करके आप अपनी वेबसाइट की ट्रैफिक बहुत ज्यादा बढ़ा सकते है।

अच्छे से keyword रिसर्च करें

अगर बात करें SEO करने की तो इसकी शुरुआत keyword research से ही होती है। SEO कोई भी इसलिए करता है ताकि उसकी वेबसाइट का एक-एक पेज किसी एक keyword पर सर्च इंजन में रैंक करे।

on-page SEO में keyword काफी मानये रखता है। आप सबसे पहले अच्छे से keyword रिसर्च करें। वैसे तो बहुत से कीवर्ड मिल जाते है, पर आप अपने हिसाब से अपने फायदे मंद कीवर्ड को ही चुने।

खोज के इरादे (search intent) को समझें

कीवर्ड रिसर्च करते समय आप search intent को भी ध्यान में रखे। आप जिस भी कीवर्ड पर ब्लॉग पोस्ट को लिखने के बारे में सोच रहे है या जो भी कीवर्ड आपके लिए सही लग रहा हो आप उस कीवर्ड को search करने के intent(इरादे) को भी जरूर समझे।

ताकि आप एक अच्छे कीवर्ड पर काम कर सके। कुछ कीवर्ड ऐसे होते है जिसको पहली नजर में देखने में बहुत अच्छा लगता पर वह एक ब्लॉगर के लिए सही नहीं होता है।

जैसे calculator इस कीवर्ड को search करने का intent कैलकुलेशन करना होता है, न कि calculator के बारे में आर्टिकल पढ़ने का।

अब आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा कि search intent क्या होता है।

यह भी जानें: सफल blogger कैसे बने

keyword का इस्तेमाल पोस्ट में करें

keyword रिसर्च करने के बाद आप अपने पोस्ट में अपने उस कीवर्ड का जरूरी इस्तेमाल करें। आपको जहाँ भी मौका मिले वहाँ पर अपने मुख्य कीवर्ड को जरूर जोड़े।

इसके साथ ही आप खुद से ऐसा लाइन बना सकते है जहा पर आप अपने keyword को डाल (जोड़) सके। keyword को जोड़ने का काम आप बहुत ही ध्यान से करें

helping keyword का इस्तेमाल करें

मुख्य keyword के साथ आप helping keyword का इस्तेमाल कर सकते है। ताकि आपका ब्लॉग आपके मुख्य keyword के साथ ही साथ अन्य keyword पर भी रैंक करें और आपके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक आ सके।

हेल्पिंग keyword वह होता है जो मुख्य keyword से मिलता जुलता होता है।

Article में पूरी जानकारी दे

article जिसमें किसी एक विषय/कीवर्ड पर जानकारी लिखी होती है। इस article को पढ़ने के लिए ही कोई भी Google में सर्च करके आपके ब्लॉग पर आता है।

अच्छे से on-page SEO करने के लिए और अपने साइट को रैंक कराने के लिए आपको अपनी article लम्बी लिखनी चाहिए। लम्बी आर्टिकल का यह मतलब नहीं है कि आप किसी एक बात को ज्यादा समय तक बताए।

बल्कि आप जिस भी विषय पर आपना आर्टिकल लिख रहे, उस विषय की पूरी जानकारी आप अपने article में दे। जिससे आपका बहुत आसानी से आर्टिकल लम्बा भी हो जाएगा और रैंक भी बढ़ेगी। लम्बा आर्टिकल होने से यूजर आपके ब्लॉग पर ज्यादा समय भी बिताएँगे।

अच्छा title लिखे

title जिस पर बहुत कम लोग ही ध्यान देते है। अक्सर ऐसा देखने को मिलता है कि नए ब्लॉगर title पर बिल्कुल ही ध्यान नहीं देते है। on-page SEO में title का बहुत बड़ा महत्व होता है।

Google के सर्च में उसी साइट को ज्यादा दिखाया जाता है जिसका title अच्छा हो। user भी उस साइट को ही खोलना पसंद करते है जिस साइट का title अच्छा हो।

अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि आप अपनी साइट का title किस तरह से लिख सकते है। title ऐसा होना चाहिए जो आपके आर्टिकल के बारे में सही और पूरी जानकारी कम से कम शब्दों में दे।

ज्यादा बड़ा title भी अच्छा नहीं होता है। बड़ा title गूगल सर्च में पूरा नहीं दिखता है। आप इस बात का भी ध्यान रखे कि आपने जो कुछ भी अपने पोस्ट में लिखा है उसकी जानकारी आपके title में शामिल हो।

अच्छा description लिखे

जितना जरुरी title होता है उतना जरूरी description भी होता है। description आपके पोस्ट में बारे में जानकारी होता है। description title से थोड़ा बड़ा होता है।

description में आप अपने पोस्ट की मुख्य बाते, आर्टिकल के बारे में बता सकते है। एक अच्छा description भी on-page SEO में मायने रखता है।

URL को छोटा रखें

URL को छोटा से छोटा रखे। छोटा URL होने के कारण उसको यूजर को याद करने में भी आसानी होती है और साथ ही देखने में अच्छा लगता है।

अगर आप URL नहीं जानते है तो URL कुछ इस तरह से होता है yoursite.com/your-post .

हम आपको URL छोटा रखने को इसलिए कह रहे है क्योंकि बहुत से लोग ऐसा सोचते है कि URL में कीवर्ड डालने (जोड़ने) से साइट/ब्लॉग ज्यादा रैंक करती है।

जिसके कारण कई लोग अपने URL में कई कीवर्ड को जोड़ देते है। यह एक तरह का स्पैम ही होता है। जिसको search engine बहुत जल्द पकड़ लेते है। इसका कोई फायदा नहीं होता है।

URL में keyword का इस्तेमाल करें

आप अपने URL को छोटा रखें। इसके साथ ही आप अपने URL में keyword का इस्तेमाल करें।

आपका जो भी मुख्य कीवर्ड हो उसको आप अपने URL में इस्तेमाल करें। आपने URLमें मुख्य कीवर्ड को थोड़ा सा बदल कर भी इस्तेमाल कर सकते है।

Image को optimized करे

Image किसी भी साइट के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है। हर एक पोस्ट में कम से कम एक Image का होना जरूरी होता है। कभी कभी अनेक Image का इस्तेमाल भी करना होता है।

कोई भी बिना Image के पोस्ट नहीं पब्लिश किया जा सकता है। Image यूजर को बहुत कुछ कह देता है। on-page SEO करते समय आपको अपने Image को भी optimize करना होता है।

आपको Image का ऐसा फॉर्मेट चुनना होता है जो बहुत ही कम size का हो जैसे .jpeg, .webp आदि। इसके साथ ही आप अपने image के लोड होने का तरीका भी बदल सकते है।

आप इस बात का ध्यान रखे कि आप अपने वेबसाइट में कम से कम इमेज का इस्तेमाल करे। जहा इमेज के बिना काम हो सके। वही इमेज का इस्तेमाल न करें।

Internal Link बनाएं

आपका भी यह सपना होगा कि आप के साइट का हर एक पेज/पोस्ट Google में रैंक करें। अपने हर एक पोस्ट को रैंक करने का सबसे आसान उपाय internal link है।

internal link बना करके आप सर्च इंजन और यूजर को अपने अन्य पोस्ट के बारे में बता सकते है। internal link बनाने के कई फायदे होते है, जैसे bounce rate का कम होना, session का बढ़ाना, अन्य पोस्ट का ज्यादा से ज्यादा रैंक करना, और बहुत कुछ।

External link बनाएं

on-page SEO में internal लिंक जितना जरुरी होता है उतना ही external link भी जरूरी होता है।

External link से आप अपने यूजर को दूसरे अच्छी वेबसाइट के बारे में बता सकते है। इसके साथ ही external link आपकी साइट की रैंकिंग को बढ़ाने में भी मदद करता है।

आप इस बात का जरूर ध्यान रखे कि आप अपने पोस्ट में ज्यादा external link को ना जोड़े। ज्यादा external link भी सही साबित नहीं होता है। ज्यादा external link यूजर को आपकी साइट पर लम्बे समय तक नहीं रोकने देगा।

ब्लॉग को modify करें

on-page SEO करने का एक ऐसा नियम जो शायद आपको न पता हो। अपने ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा रैंक करने के लिए और एक सही पोजीशन पर बनाए रखने के लिए आपको अपने ब्लॉग को समय समय पर मॉडिफाई कारना होगा।

बस एक बार ब्लॉग पब्लिश करने के बाद आपका काम ख़त्म नहीं हो जाता है। आपको कुछ-कुछ समय में अपने उस ब्लॉग में कुछ बदलाव करने होते है जो जरूरी ही और अपडेट करना होता है। ऐसा करने से आपका ब्लॉग कम समय में ज्यादा रैंक करने लगेगा।

यह भी जानें: Blog का traffic बढ़ाने का तरीका

on-page SEO में क्या नहीं करना है

on-page SEO करते समय कुछ नए ब्लॉगर कुछ छोटी-छोटी गलती कर देते है। जिसके कारण उनकी इच्छा के अनुसार सफलता नहीं मिलती है। पर आप इस गलती से बचे।

चालिए हम आपको कुछ ऐसी चीज़ बता रहे है जो आपको on-page SEO करते समय बिलकुल ही नहीं करना है।

keyword stuffing न करें

keyword stuffing जिसका मतलब होता है कीवर्ड को अपने ब्लॉग में भरना। अब आपको लग सकता है कि हमें तो अपनी ब्लॉग में keyword add करना है। तो हम आपको बता दे कि एक सीमा तक आप अपने ब्लॉग में keyword को जोड़ सकते है।

जिससे आपको कोई भी नुकसान नहीं होगा। पर जब आप अपने ब्लॉग में एक सीमा से ज्यादा बार कीवर्ड का इस्तेमाल करते है तो इसको keyword stuffing कहा जाता है।

keyword stuffing करने से आपको ब्लॉग कभी भी Google में रैंक नहीं करेगा। keyword stuffing करना एक बहुत ही पुराना तरीका है, इस समय बिल्कुल ही काम नहीं करता है। यह आपके ब्लॉग्गिंग कैरियर को बर्बाद कर सकता है।

URL में ज्यादा keyword का ना इस्तेमाल करें

कुछ लोग को ऐसा लगता है कि अपने ब्लॉग के URL को लम्बा करने और ज्यादा से ज्यादा keyword को URL में add करने से उनका ब्लॉग ज्यादा रैंक करेगा।

इसको वह on-page SEO का एक हिस्सा मन लेते है जिसके कारण वह इसको बहुत ख़ुशी के साथ करते है।

पर ऐसा करने से कोई भी फायदा नहीं होता है। इस समय यह on-page में बिल्कुल ही मदद नहीं करता है। ऐसा करने से नुकसान ही उठाना पड़ता है।

title और description में बस keyword का इस्तेमाल न करें

आप अपने ब्लॉग के title और description में बस कीवर्ड का ही इस्तेमाल न करें। ऐसा करने से आपको किसी तरह का कोई फायदा नहीं होता है। यह SEO को नुकसान ही करता है। आप इसको करने से बचे।

बस सर्च इंजन के लिए कंटेंट को Optimize न करें

आप अपने ब्लॉग के लिए आर्टिकल लिखते है। आपके मन में एक बात तो जरूर आती होगी कि आप ऐसा आर्टिकल/ब्लॉग पोस्ट लिखे जो ज्यादा से ज्यादा रैंक करें।

जिसके कारण आप अपने ब्लॉग को ऐसा लिखते होंगे जिसको सर्च इंजन समझ सके और ज्यादा से ज्यादा रैंकिंग मिल सके। पर बस सर्च इंजन के लिए अपने पोस्ट को लिखना सही नहीं होता है।

ऐसा करने से आपका ब्लॉग पोस्ट रैंक ही नहीं करेंगा। क्युकी गूगल अब बहुत स्मार्ट हो गया है, वह उसी ब्लॉग को रैंक करता है जो यूजर के लिए अच्छा हो नहीं की गूगल के लिए।

यदि आपका ब्लॉग यूजर के ध्यान में रखते हुए लिखा गया तो है तो वह जरूर रैंक करेगा।

अब से आप on-page SEO के चाकर में ब्लॉग पोस्ट को बस सर्च इंजन के लिए न लिखें बल्कि सर्च इंजन और यूजर दोनों के लिए लिखे।

यह भी जानें: वेबसाइट से पैसे कैसे कमाए

हैल्लो , आपका itwebcompany.com पर स्वागत है। हमें इंटरनेट के बारे में जानकारी देना बहुत ही पसदं है। हम आपको यहाँ blogging, SEO, WordPress, YouTube और Digital marketing के बारे में जानकारी देते है। आप हमें सीधे हमारी Email Id से जुड़ सकते है। हमारा Email id info@itwebcompany.com. किसी तरह की मदद के लिए आप हमें support@itwebcompany.com पर contact करें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version