Home Blog digital marketing की पूरी जानकारी और ज्ञान हिंदी में | digital marketing...

digital marketing की पूरी जानकारी और ज्ञान हिंदी में | digital marketing in hindi

digital marketing, online marketing, internet marketing इसके बारे में आपने कभी न कभी जरूर ही सुना होगा।

पर क्या आपको पता है कि digital marketing क्या है? digital marketing कैसे काम करता है। चलिए हम digital marketing के बारे में सब कुछ जानने की कोशिश करते है।

हम आपको सबसे पहले यह बता दे कि digital marketing, online marketing, internet marketing यह सब कुछ एक ही होते है। बस इनको अलग-अलग नाम से जाना जाता है।

यह जरूर जानें: डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की पूरी जानकारी

digital marketing क्या है?

digital marketing in hindi

digital marketing एक तरह की मार्केटिंग होती है जिस मार्केटिंग को डिजिटल उपकरण के द्वारा किया जाता है। इस डिजिटल मार्केटिंग में मोबाइल फ़ोन, कंप्यूटर और इंटरनेट का इस्तेमाल होता है।

digital marketing में भी किसी सामान या सर्विस की marketing किया जाता है।

आसान शब्दों में digital marketing को ऑनलाइन किया जाता है किसी सामान या सर्विस को बेचने के लिए। क्या आपको पता है कि digital marketing को फ्री में भी किया जा सकता है।

यह बिल्कुल ही सत्य है कि आप digital marketing को फ्री में भी कर सकते है। digital marketing के कुछ ऐसे प्रकार होते है जो की बिल्कुल ही फ्री होते है।

डिजिटल मार्केटिंग कैसे काम करता है

अब सवाल आता है कि डिजिटल मार्केटिंग कैसे काम करता है, तो चलिए हम यह समझ लेते है कि डिजिटल मार्केटिंग कैसे काम करता है?

जैसे किसी कंपनी के पास कोई सामान है जिसको वह कंपनी बेचना चाहती है। उस सामान को बेचने के लिए कंपनी को लोगो को बताना होगा कि हमारे पास यह सामना है।

सामान से जुडी कुछ जानकारी को ऐसे लोगो को बताना होगा जो शायद उस सामान को खरीद सके।

अपनी सामान की मार्केटिंग करने के लिए उससे जुडी जानकारी को लिख कर या वीडियो बनाकर लोगो को बताना होगा। ऑनलाइन मार्केटिंग करने से पहले अपने कंपनी को अपने सामान की जानकारी को लिखना या वीडियो बनाना होता है।

उसके बाद सामान के बारे में वह लोगो को ads network (जैसे Google Ads) के इस्तेमाल से बताते है। आसान शब्दों में ads network की मदद से कंपनी अपने सामान के बारे में उन लोगो को बताती है जो लोग उस सामान को खरीद सके।

इसके बाद जिसको भी कंपनी के उस सामान की जरूरत होती है तो वह उस सामान को online या offline खरीदते है।

फ्री में डिजिटल मार्केटिंग करने के तरीके भी है जैसे अपने ब्लॉग, YouTube channel, social media की मदद से लोगो को अपने सामान के बारे में बताना। इसके अलावा भी बहुत से प्रकार होते है डिजिटल मार्केटिंग को फ्री करने के लिए।

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार

अब चलिए हम जान लेते है कि आखिर digital marketing के कितने प्रकार होते है। चलिए हम digital marketing के सभी प्रकार को जान लेते है।

Search engine optimization (SEO)

Search engine optimization को SEO भी कहा जाता है। Search engine optimization में किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को इस प्रकार से optimization किया जाता है कि वह ज्यादा से ज्यादा सर्च इंजन (जैसे Google) के सर्च रिजल्ट में ऊपर दिखें।

जैसे आप Google में कुछ भी सर्च करते है तो आप को सर्च रिजल्ट में कई वेबसाइट देखने को मिलती है। यह सभी वेबसाइट Google search result में Search engine optimization की मदद से ऊपर आती है।

SEO भी डिजिटल मार्केटिंग का एक प्रकार ही है। Search engine optimization करने में कोई भी पैसा नहीं लगता है। आसान शब्दों में Search engine optimization बिल्कुल ही फ्री है।

Content marketing

Content marketing को राजा भी कहा जाता है। डिजिटल मार्केटिंग में Content marketing बहुत ही बड़ा हिस्सा रखता है। आप सोच रहे होंगे कि Content marketing क्या होता है।

Content marketing में के audience को किसी विषय के बारे में जानकारी दी जाती है, इस जानकारी को देने का माध्यम कई प्रकार का हो सकता है। जैसे ब्लॉग पोस्ट, YouTube वीडियो, e-books, आदि।

कंटेंट को share करके audience को कंपनी के बारे में जानकारी दी जाती है, सामान को खरीदने के लिए मोटीवेट किया जाता है, या audience का contact information को इकट्ठा किया जाता है।

Content marketing में बस किसी कंपनी का विज्ञापन नहीं किया जाता है। वास्तव में Content marketing से लोगो को मदद किया जाता है और audience की मदद करके एक अच्छा रिश्ता बनाया जाता है। Content marketing करना बिल्कुल ही फ्री है।

यह जरूर जानें: Blog का traffic कैसे बढ़ाये

Social media marketing

Social media marketing में उन लोगों को किसी कंपनी के बारे में बताया जाता है जो Social media का इस्तेमाल करते है। इस समय बहुत से लोग Social media का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे है।

ऐसे लोगो को किसी सामान या सर्विस के बारे में बताने के लिए Social media marketing का इस्तेमाल किया जाता है।

Social media marketing करना फ्री भी है और पैसा भी लगता है। Social media marketing में audience के साथ कंटेंट को शेयर किया जाता है। Social media marketing में ads का इस्तेमाल भी किया जाता है।

Pay-per-click marketing

Pay-per-click marketing को search engine marketing भी कहा जाता है। इस marketing से किसी भी वेबसाइट के traffic को बढ़ाया जा सकता है। Pay-per-click marketing को करने के लिए Google ads बहुत ही अच्छा है।

अब आप सोच रहे होंगे कि Pay-per-click marketing क्या होता है। Pay-per-click marketing में तब ही पैसा देना होता है जब कोई किसी website के link पर click करता है।

Pay-per-click marketing करने में पैसे का निवेश करना होता है। बिना पैसा के Pay-per-click marketing नहीं किया जाता है।

Affiliate marketing

Affiliate marketing कंपनी के लिए बहुत ही अच्छा होता है। Affiliate marketing में कंपनी को तब ही पैसा देना होता है जब उनके सामान या सर्विस को कोई ख़रीदे या उनके कंपनी के साथ जुड़े।

इस मार्केटिंग को content marketer ज्यादा करते है। content marketer जैसे कि Blogger, YouTuber, आदि।

हम बता दे कि affiliate marketing में किसी कंपनी के पास कोई सामान या सर्विस होता है उस सामान या सर्विस को कोई इस व्यक्ति affiliate link से promote करता है।

जिसके पास audience है उस सामान या सर्विस को खरीदने के लिए। affiliate link से कंपनी और affiliate marketer जान पाते है कि कितना सामान या सर्विस बिका और link पर click हुआ।

Email marketing

Email marketing में सबसे पहले किसी एक प्रकार के audience के Email इकट्ठा किया जाता है। email को इकट्ठा करने के बहुत से तरीके होते है जैसे ब्लॉग।

उसके बाद audience को ईमेल किया जाता है जिस चीज़ को वह खरीद सके। Email marketing से ब्लॉगर अपने ब्लॉग की ट्रैफिक को बढ़ा पाते है, Email marketing से affiliate marketing किया जा सकता है, या अपने किसी सामान या सर्विस को बेचा जा सकता है, आदि।

डिजिटल मार्केटिंग के फायदे

अब चलिए हम डिजिटल मार्केटिंग के कुछ जरूरी फायदों को भी जान लेते है।

ज्यादा पहुंच

डिजिटल मार्केटिंग का सबसे पहला फायदा है कि ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पंहुचा जा सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग में कोई सिमा नहीं है। किसी भी देश से किसी दूसरे देश में भी मार्केटिंग को बस डिजिटल मार्केटिंग से किया जा सकता है।

पैसे की बचत

डिजिटल मार्केटिंग बहुत ही कम पैसे के साथ भी शुरू किया जा सकता है। दूसरे शब्दों में कम पैसे में भी डिजिटल मार्केटिंग किया जा सकता है। इसके अलावा ज्यादा पैसे से भी डिजिटल मार्केटिंग किया का सकता है। Digital marketing में पैसा भी बचता है।

तुरंत परिणाम

दूसरे तरह के मार्केटिंग में परिणाम का जल्द पता नहीं चलता है। दूसरे तरह के मार्केटिंग का परिणाम आने में लम्बा समय लग जाता है, पर डिजिटल मार्केटिंग में बहुत ही जल्द परिणाम मिल जाता है। आसान शब्दों में डिजिटल मार्केटिंग तुरंत परिणाम देता है।

customization करना बहुत ही आसान

डिजिटल मार्केटिंग में customization करना बहुत ही आसान होता है। डिजिटल मार्केटिंग में target audience तक पंहुचा जा सकता है। दूसरे शब्दों में डिजिटल मार्केटिंग में ऐसे लोगो को ही अपने बारे में कंपनी बताती है या अपने विज्ञापन को दिखाती है जो कि उनके target customer हो।

customer को उनके जगह, उम्र, पसंद और ना-पसंद, के हिसाब से target किया जा सकता है। वही दूसरे तरह के मार्केटिंग में ऐसा करना संभव नहीं होता है।

digital marketing strategy in hindi

डिजिटल मार्केटिंग को करने से पहले आपको यह तय कर लेना चाहिए कि आप डिजिटल मार्केटिंग की मदद से किया करना चाहते है। जैसे अपने सामान को बेचना चाहते है, अपने कंपनी के बारे में लोगो को जागरूक करना चाहते है, अपने ग्राहक के contact information को इकट्ठा करना चाहते है, या फिर अपने ग्राहक से रिश्ता बनाना चाहते है। यह सोच कर ही डिजिटल मार्केटिंग को शुरू करें।

डिजिटल मार्केटिंग करने से पहले आपको डिजिटल मार्केटिंग को अच्छे से जान और सीख लेना चाहिए। अपने डिजिटल मार्केटिंग करने से पहले आप तय कर ले कि आप कौन से प्रकार के डिजिटल मार्केटिंग को करेंगे जिससे आपकी जरूरत पूरी हो जाए।

अपने ग्राहक को पहचाने

डिजिटल मार्केटिंग में आपको अपने ग्राहक को अच्छे से पहचाना होगा। आप अपने ग्राहक को कई तरह से पहचाना सकते है जैसे उनके उम्र से, पंसद और ना पसंद, उनके व्यवहार से, जगह से, आदि।

जब आप अपने ग्राहक को पहचान लेंगे तो आप बहुत ही अच्छे से डिजिटल मार्केटिंग कर सकते है।

डिजिटल मार्केटिंग के सही प्रकार को चुने

आप इसको जानते ही होंगे कि डिजिटल मार्केटिंग के बहुत से प्रकार होते है। उसमे से कुछ प्रकार किसी के लिए सही होता है तो कुछ किसी किसी दूसरे के लिए सही होता है।

आपको अपने लिए किसी एक प्रकार के डिजिटल मार्केटिंग का इस्तेमाल करना चाहिए।

audience को मदद करने की कोशिश करें

डिजिटल मार्केटिंग में सफल होने का सबसे आसान तरीका है अपने audience को मदद करना। audience की मदद करके उनके साथ एक अच्छा रिश्ता बनाया जा सकता है।

इसके साथ ही अपने डिजिटल मार्केटिंग को सफल बनाया जा सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग कैसे सीखें

अब सवाल आता है कि डिजिटल मार्केटिंग को कैसे सीखे। वैसे तो डिजिटल मार्केटिंग को सीखने के बहुत से तरीके है पर सबसे अच्छा तरीका है खुद से डिजिटल मार्केटिंग को करना और सीखना।

आप डिजिटल मार्केटिंग का ऑनलाइन या offline कोर्स भी कर सकते है। कोर्स आपको कुछ हद तक जरूर मदद करेगी। हम बता दे कि एक अच्छा डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स ही करें।

बिना कोर्स के डिजिटल मार्केटिंग को सीखने के लिए आप डिजिटल मार्केटिंग के किताब को भी पढ़ सकते है। डिजिटल मार्केटिंग कोर्स से अच्छा डिजिटल मार्केटिंग का किताब होता है और यह सस्ता भी होता है।

यह जरूर जानें: एक सफल blogger कैसे बने

अंत के शब्द

हमने यहाँ पर digital marketing के बारे में सब कुछ जाना। हमने जाना कि digital marketing क्या होता है और कैसे काम करता है।

इसके साथ ही यह भी जाना कि digital marketing के कितने प्रकार होते है। आपको यह जानकारी कैसी लगी आप हमें बता सकते है।

हैल्लो , आपका itwebcompany.com पर स्वागत है। हमें इंटरनेट के बारे में जानकारी देना बहुत ही पसदं है। हम आपको यहाँ blogging, SEO, WordPress, YouTube और Digital marketing के बारे में जानकारी देते है। आप हमें सीधे हमारी Email Id से जुड़ सकते है। हमारा Email id info@itwebcompany.com. किसी तरह की मदद के लिए आप हमें support@itwebcompany.com पर contact करें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version