ब्लॉग्गिंग कैसे करे? ब्लॉग्गिंग को शुरू करने का तरीका हिंदी में

Advertisement

अगर बात करें ऑनलाइन बिजनेस का तो सबसे पहला और अच्छा बिज़नेस ब्लॉग्गिंग है। ब्लॉग्गिंग एक बहुत अच्छा ऑनलाइन बिज़नेस है। ब्लॉग्गिंग को बिज़नेस भी कहा जा सकता और जॉब भी।

ब्लॉग्गिंग एक ऐसा तरीका है जिसकी मदद से हम घर बैठे ऑनलाइन पैसा कमा सकते है। अब आप सोच रहे होंगे कि ब्लॉग्गिंग क्या होता है? तो हम आपको बता दे कि ब्लॉग्गिंग में हम ब्लॉग या वेबसाइट को बनाते है। उसमे समय-समय पर जानकारी को डालते रहते है।

हम ऐसी जानकारी को डालते है, जो जानकारी दूसरे की किसी तरह से कोई मदद करे। ब्लॉग्गिंग से हम कई तरीके से पैसा कमा सकते है।

ब्लॉगिंग या वेबसाइट से पैसा कमाने का मुख्य तरीका जैसे कि Google AdSense, एफिलिएट मार्केटिंग, खुद का कोई कोर्स या प्रोडक्ट बेचना, किसी दूसरे कंपनी का प्रमोशन करना, आदि शामिल है।

चलिए इस पोस्ट में हम जानते है कि हम ब्लॉग्गिंग कैसे कर सकते है, और हम ब्लॉग्गिंग से ऑनलाइन घर बैठे पैसा कैसे कमा सकते है?

ब्लॉग्गिंग क्या है?

ब्लॉग्गिंग एक ऐसा माध्यम होता है। जिस माध्यम से कोई संस्था या व्यक्ति अपनी जानकारी को दूसरे लोगो के साथ साझा यानी शेयर करता है।

ब्लॉग्गिंग में जानकारी इंटरनेट के माध्यम से ही शेयर किया जाता है और इंटरनेट के माध्यम से ही इस जानकारी को कोई पढ़ सकता है।

इस जानकारी को शेयर करके कोई भी व्यक्ति या संस्था ऑनलाइन पैसा कमा सकती है, या अपने बिज़नेस के बारे में लोगो को बता सकती है, या अपने प्रोडक्ट की बिक्री बढ़ा सकती है, आदि।

ब्लॉग्गिंग के माध्यम से लोगो को विश्वास खुद पर बढ़ाया जा सकता है।

दूसरे शब्दों में ब्लॉगिंग एक तरीका या ऑनलाइन बिज़नेस है जिसकी मदद से कोई भी अपने घर बैठे ऑनलाइन पैसा कमा सकते है। ब्लॉग्गिंग को हर कोई पसंद करता है।

Advertisement

ऑनलाइन बिज़नेस में से यह सबसे अच्छा और फायदे मंद बिज़नेस है। ब्लॉग्गिंग को कोई भी शुरू कर सकता है। ब्लॉग्गिंग को सीखने के बाद कोई भी ऑनलाइन बिज़नेस करना आसान हो जाता है।

क्या ब्लॉग्गिंग सफल है?

ब्लॉग्गिंग एक सफल ऑनलाइन बिज़नेस में शामिल किया जाता है। अगर कोई भी इसको अच्छे से करता है तो उसको यहाँ से सफलता मिल सकती है। पर वही इसको अच्छे से न किया जाए तो असफ़लता का सामना करना पड़ सकता है।

इस समय देश के बहुत से लोग ब्लॉग्गिंग करते है। वह ब्लॉग्गिंग में बहुत ही सफल है। ब्लॉग्गिंग को अपना कैरियर भी बनाया जा सकता है।

हम आपको यह भी बता दे कि बहुत से लोग ब्लॉग्गिंग को शुरू तो करते है पर कुछ ही लोग इसमें सफल हो पाते है। इसका मतलब यह नहीं है कि ब्लॉग्गिंग अच्छा नहीं है।

लेकिन ब्लॉग्गिंग को पूरा समय देना चाहिए। जितना समय इसमें लगता है। ब्लॉग्गिंग में कड़ी मेहनत, खुद पर विश्वास, रिसर्च, और समय की जरूरत होती है।

ब्लॉग्गिंग को कैसे शुरू करे?

how to start blogging in hindi
how to start blogging in hindi

चलिए अब हम जानते है कि हम ब्लॉग्गिंग कैसे कर सकते है। ब्लॉग्गिंग को शुरू करने से लेकर सफल होने तक। सब कुछ मन जानेगे।

ब्लॉग्गिंग को शुरू करने से पहले आप यह तय कर ले की आप किस विषय पर अपना ब्लॉग शुरू करने वाले है।

इसके बाद आप यह तय कर ले कि आप किस तरह की जानकारी लोगो को देंगे। आप वही जानकारी देने कि कोशिश करे, जिसकी जरूरत दूसरे लोगो को हो।

अगर आप ऐसी जानकारी देते है। जिसकी जरूरत किसी की न हो तो फिर आप ब्लॉग्गिंग में सफल नहीं हो सकते है।

इसके बाद आपको अपने ब्लॉग के लिए नाम खरीदना होगा। यहाँ पर ब्लॉग के नाम को डोमेन कहते है।

Advertisement

डोमेन के बाद आपको एक होस्टिंग (सर्वर) लेना होगा। जहा पर आपके ब्लॉग का फाइल मौजूद होगा।

उसके बाद आपको एक सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करना होगा। जो आपको बिना किसी तरह के कोडन के ब्लॉग बनाने में मदद करे।

अब चलिए हम इसको और अच्छे से जानते है कि ब्लॉग्गिंग को शुरू करने के लिए क्या कुछ चाहिए होता है।

ब्लॉग का विषय तय कर ले

आप ब्लॉग्गिंग को शुरू करने से पहले अपने ब्लॉग के लिए विषय को चुन ले। आप तय कर ले कि आप किस विषय पर अपने ब्लॉग को शुरू कर सकते है। आप उस विषय को ही चुने जिस विषय में आपको अच्छी जानकारी हो।

इसके साथ ही आप उस विषय को दूसरों को आसानी से समझा भी सके। कोई भी आपके ब्लॉग पर अपने प्रॉब्लम का हल पाने के लिए ही आएगा।

आप इसके अनुसार ही अपने ब्लॉग का विषय का चयन करे। किस दूसरे के कहने पर विषय का चयन न कर ले। इससे आपको नुकसान हो सकता है।

उस विषय का चयन करें जिसको दूसरे पढ़ना चाहते है

उस विषय का ही चयन करे जिसको दूसरे पढ़ना चाहते है। अगर आप ऐसे विषय का चयन कर लेते है। जिसको दूसरे पढ़ना ही नहीं चाहते है।

तो भी आप असफल हो सकते है। हम आपको यहाँ बता दे कि अधिकतर लोग किसी ब्लॉग में गूगल पर सर्च करके जाते है।

अब अगर कोई ब्लॉग ऐसा विषय पर होगा जिसे विषय को कोई गूगल में सर्च ही नहीं करता है तो उस ब्लॉग पर कोई जाएगा ही नहीं।

ज्यादा कम्पटीशन वाले विषय का चयन न करें

आप ज्यादा कम्पटीशन वाले विषय का चयन भी न करें। ब्लॉग्गिंग के शुरू में जब हमें थोड़ा भी सफलता मिलता है तो हमें और भी ज्यादा काम करने का मन करता है।

Advertisement

वही अगर आप ज्यादा कम्पटीशन वाले विषय का चयन कर लेते है तो आपको शुरू में थोड़ा भी सफलता नहीं मिलेगा।

जिससे आप ज्यादा समय तक इस ब्लॉग्गिंग को नहीं कर पाएगे।

ब्लॉग के लिए डोमेन ले

डोमेन किसी भी वेबसाइट/ब्लॉग का नाम/url होता है। जैसे google.com, itwebcompany.com. इसको अपने ब्राउज़र में लिखकर कोई भी किसी वेबसाइट में जा सकता है।

जब आप ब्लॉग के लिए विषय का चयन कर ले तो फिर आप अपने ब्लॉग के लिए नाम ले। नाम का मतलब डोमेन होता है।

अपने विषय के अनुसार ही आप डोमेन ले। जैसे अगर आप ब्लॉग हेल्थ टिप्स पर शुरू करते है। तो आपका डोमेन भी हेल्थ टिप्स के जुड़ा हुआ हो।

अगर कोई और डोमेन भी रहेगा तो भी कोई ज्यादा परेशानी नहीं होगी। आप अच्छी tld वाले डोमेन ले, जैसे .com, .in, .net, आदि। आप फ्री वाले डोमेन लेने के बारे में न ही सोचे।

ब्लॉग के लिए होस्टिंग ले

होस्टिंग या सर्वर एक तरह का कंप्यूटर होता है। यह कंप्यूटर 24 घंटे और सातों दिन चालू रहता है और इंटरनेट से जुड़ा हुआ रहता है।

होस्टिंग में ही किसी वेबसाइट का फाइल रहता है। जब भी कोई व्यक्ति किसी ब्लॉग का डोमेन अपने ब्राउज़र में लिखता है तो वह उस डोमेन के होस्टिंग/सर्वर से जुड़ जाता है।

उसके बाद उसे उस वेबसाइट की सारी फाइल दिखती है। जब आप अपने ब्लॉग के लिए डोमेन खरीद ले तो फिर आप अपने ब्लॉग के लिए होस्टिंग खरीदें।

इस समय बहुत सी कंपनी अपनी-अपनी होस्टिंग बेचती है। पर आपको एक अच्छी होस्टिंग लेनी चाहिए। एक अच्छी होस्टिंग आपके ब्लॉग को सुरक्षित रखता है। इसके साथ ही आपके ब्लॉग का स्पीड बढ़ा देता है।

Advertisement

हमारे अनुसार सबसे अच्छी होस्टिंग hostinger का होस्टिंग होता है। इनके होस्टिंग का स्पीड काफी हद तक दूसरे होस्टिंग कंपनी से अच्छा होती है। hostinger में आप बहुत ही कम पैसो में होस्टिंग खरीद सकते है।

अगर आप hostinger पर एक साल के लिए होस्टिंग खरीदेंगे तो आपको एक डोमेन फ्री मिलेगा। आप hostinger को देख सकते है।

डोमेन और होस्टिंग को जोड़े

जब आप डोमेन और होस्टिंग खरीद ले तो फिर आपको अपने डोमेन और होस्टिंग को जोड़ना होता है।

हम आपको यह भी बता दे कि अगर आप एक साथ एक ही किसी कंपनी से डोमेन और होस्टिंग लेते है तो आपके होस्टिंग और डोमेन जुड़ा हुआ मिलेगा।

डोमेन को होस्टिंग से जुडने में करीब 24-48 घंटे लग जाते है। चलिए हम जानते है कि कैसे डोमेन और होस्टिंग को जुडा/connect किया जा सकता है।

जब आप अपने वेबसाइट के लिए होस्टिंग खरीदें तो आपको होस्टिंग कंपनी दो nameserver देगी। जैसे ns1.itwebcompany.com और ns2.itwebcompany.com. यह दोनों nameserver को आप अपने डोमेन की सेटिंग में जाकर अपडेट कर दे।

अपने होस्टिंग में wordpress को install करें

wordpress एक ऐसा प्लात्फोर्म है, जिसको अधिकतर ब्लॉग में इस्तेमाल किया जाता है। बड़ी से बड़ी ब्लॉग भी wordpress का इस्तेमाल करती है। wordpress बिलकुल ही फ्री है।

इसको प्रयोग करने के लिए आपको एक भी पैसा नहीं देना होता है। इसके साथ ही wordpress का इस्तेमाल करना भी बहुत आसान होता है।

हम आपको यह भी बता दे कि wordpress के बारे में बताने वाले बहुत से लोग आसानी से मिल जाते है। जिसे आपको आने वाली कोई भी समस्या हल हो जाएगी।

वर्डप्रेस को इनस्टॉल करने के बाद आप अपने वर्डप्रेस के लिए अपने हिसाब से वर्डप्रेस theme और plugin को install करें। हम आपको कुछ वर्डप्रेस के प्लगइन के बारे में बता दे जो की बहुत ही जरुरी है।

Advertisement

जानकारी देना शुरू कर दे

अब आप अपने ब्लॉग में जानकारी देना शुरू कर दे। इस समय आपको थोड़ा भी देर नहीं करना चाहिए। बहुत से व्यक्ति के साथ ऐसा होता है कि वह सब कुछ खरीद तो लेते है। पर वह अपने ब्लॉग में जानकारी देना शुरू ही नहीं करते है।

आप ऐसी गलती न करें। शुरू में आप से जैसा भी जानकारी दिया जा रहा हो। वैसा ही दे।

हम आपको फिर से बता दे कि कोई भी आपके ब्लॉग में जानकारी लेने आता है। बस आपके ब्लॉग के डिज़ाइन को देखने नहीं आएगा। शुरू में जानकारी देना थोड़ा-सा मुश्किल सभी के साथ होता है।

पर कुछ समय तक काम करने के बाद यह बिलकुल ही आसान बन जाता है।

यह भी पढ़े: ब्लॉग के लिए आर्टिकल कैसे लिखे

google analytics और google search console का इस्तेमाल करें

जब आप अपने ब्लॉग में जानकारी देना शुरू कर दे तो फिर आप अपने ब्लॉग को google analytics और google search console से जोड़ दे। google analytics की मदद आप यह जान सकते है कि कितने लोग आपके ब्लॉग पर आ रहे है।

कहा से आ रहे है, कितना समय वह आपके ब्लॉग पर बिता रहे है, ब्लॉग के एक पेज के आने के बाद वह कितने पेज तक जा रहे है, आदि।

यह जानकारी आपको मदद करती है कि आपके किस जानकारी को ज्यादा पढ़ा जा रहा है। और आप अपने ब्लॉग में क्या बदलाव करके अपने ब्लॉग पर आने वाले लोगो को और भी खुश कर सकते है।

google search console की मदद से आप यह जान सकते है कि आपके ब्लॉग में क्या समस्या है, आपका ब्लॉग गूगल में कितना अच्छा प्रदर्शन कर रहा है, आपके ब्लॉग का कौन सा पेज गूगल में ज्यादा प्रदर्शन कर रहा है, आदि।

google search console की मदद से आप अपने ब्लॉग को गूगल में ज्यादा से ज्यादा रैंक करा सकते है।

Advertisement

SEO करें

SEO का फुल फ्रॉम Search Engine Optimization होता है। SEO एक ऐसा माध्यम है जिसकी मदद से किसी ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल में किसी कीवर्ड में ऊपर लाया जा सकता है।

हम आपको बता दे कि किसी भी ब्लॉग में अधिकतर व्यक्ति किसी सर्च इंजन से आते है। सर्च इंजन जैसे google, bing, आदि।

यह भी पढ़े: SEO कैसे करें

ब्लॉगिंग से पैसा कमाने का तरीका

आखिरी पर बहुत ही कीमती है। ब्लॉग से पैसा कमाने का तरीका और उपाय। जब आप अपने ब्लॉग को तैयार कर ले तो फिर आपको इसके बारे में सोचना चाहिए।

ब्लॉग से पैसा कमाने के बहुत से तरीके है। ब्लॉग से पैसा कमाने का मुख्य तरीका है, google adsense, एफिलिएट मार्केटिंग, खुद का कोर्स बेचना, खुद का कोई प्रोडक्ट बेचना, किसी तीसरी कंपनी का विज्ञापन नेटवर्क इस्तेमाल करना, किसी कंपनी का प्रमोशन करना, आदि।

हैल्लो , आपका itwebcompany.com पर स्वागत है। हमें इंटरनेट के बारे में जानकारी देना बहुत ही पसदं है। हम आपको यहाँ blogging, SEO, WordPress, YouTube और Digital marketing के बारे में जानकारी देते है। आप हमें सीधे हमारी Email Id से जुड़ सकते है। हमारा Email id [email protected] किसी तरह की मदद के लिए आप हमें [email protected] पर contact करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here