Bitcoin क्या है, कैसे काम करता है, अविष्कार किसने क्या, कैसे ख़रीदे और बेचे

Bitcoin के बारे में आप सभी ने जरूर सुना होगा! और सुना भी क्यों न हो? अमेरिकी बिलेनियर एलन मस्क की कृपा से आज यह इतना लोकप्रिय जो हो गया। Elon Musk वर्तमान में दुनिया के सबसे बड़े निवेशकों में से एक माने जाते हैं और ऐसे में उनकी सलाह को लोग काफी बारीकी के साथ मानते भी हैं।

जब वह काफी चर्चाओं में चल रहे थे तब उन्होंने बिटकॉइन का समर्थन किया था जिससे कि बिटकॉइन की कीमत में काफी उछाल आया और बिटकॉइन सुर्खियों में आ गया।

आज दुनिया का हर दूसरा शख्स बिटकॉइन का नाम सुन चुका हैं। लेकिन अब भी काफी लोग ‘बिटकॉइन क्या हैं’ और ‘बिटकॉइन में इन्वेस्ट कैसे करे’ जैसे सवालो का जवाब नहीं जानते।

अगर आप भी उन लोगो मे से एक हो तो कोई बात नहीं, क्योंकि इस लेख में हम आपको बिटकॉइन की पूरी जानकारी (Bitcoin Details in Hindi) आसान भाषा मे देने वाले हैं।

what is bitcoin in hindi
what is bitcoin in hindi

बिटकोइन क्या हैं? What is Bitcoin in Hindi

Bitcoin (बिटकॉइन) एक Cryptocurrency है जो ब्लॉकचेन प्रणाली पर आधारित है। क्रिप्टो करेंसी एक तरह की डिसेंट्रलाइज्ड करेंसी होती है, जिस पर किसी भी संस्था या देश का अधिकार नहीं होता।

Bitcoin एक Cryptographic Proof पर आधारित पेमेंट सिस्टम हैं। Bitcoin के द्वारा जो भी ट्रांजैक्शन किया जाता है वो एक Public Ledger पर दर्ज किया जाता हैं।

जिससे उस ट्रांजैक्शन को Reverse करना या इससे Fake Transactions करना मुश्किल होता हैं। ऐसा भी कहा जा सकता हैं कि यह काफी हद तक नामुमकिन होता है। यही कारण हैं कि Cryptocurrency को किसी भी तरह के ट्रांजेक्शन के लिये सबसे सिक्योर और Private भी मानते हैं।

बिटकॉइन को हम आसानी से Digital Crypto Wallets के माध्यम से खरीद सकते हैं, बेच सकते हैं और इन्हें असली करेंसी की जगह एक्सचेंज कर सकते हैं लेकिन इसमें बीच मे कोई इंटरमीडिएट यानी कि बैंक या कोई संस्था नहीं रहती।

जिस तरह से हम PayTm और PhonePe आदि डिजिटल वालेट्स से पैसे ट्रांसफर करते हैं उसी तरह से क्रिप्टो वॉलेट्स का उपयोग करते हुए बिटकॉइन के माध्यम से भी भुगतान किया जा सकता है और उसे स्वीकारा जा सकता हैं।

क्योंकि बिटकॉइन एक डिसेंट्रलाइज्ड करेंसी है जिस पर कोई कंट्रोल नहीं कर सकता और इसकी सप्लाई भी लिमिटेड है तो डिमांड एंड सप्लाई रूल पर शेयर बाजार की तरह ही बिटकॉइन की कीमत घटती और बढ़ती रहती है।

बिटकॉइन कैसे काम करता हैं? How Bitcoin Works in Hindi

Bitcoin और लगभग अन्य सभी क्रिप्टो करेंसी ब्लॉकचेन प्रणाली पर आधारित होती हैं। बिटकॉइन के काम करने के तरीके को समझने के लिए आपको Blockchain (ब्लॉकचैन) प्रणाली को समझना होगा।

ब्लॉकचैन एक डिस्ट्रीब्यूटेड डिजिटल रिकॉर्ड (Public Ledger) है जो पूरी तरह से डिसेंट्रलाइज्ड होता हैं। Blockchain एक तरह से Digital Ledger (डिजिटल बहीखाता) हैं जहाँ बिटकॉइन से संबंधित सभी रिकॉर्ड दर्ज किए जाते हैं।

Blockchain एक तरह से एक डेटा स्टोर टेक्नोलोजी हैं जिसमे काफी सारे Blocks होते है और इन Blocks में एक Unique Identifying Code के साथ Transaction का Data होता हैं।

यानी कि जब भी Bitcoin से संबंधित कोई ट्रांजैक्शन किया जाता है तो उसका डाटा ब्लॉकचेन के माध्यम से सेव होता हैं और इस तरह से Transaction के Existence की जानकारी मिलती हैं की यह Transaction कौन कर रहा है, किसे कर रहा है, और कब कर रहा है।

सरल भाषा में Blockchain को समझा जाए तो यह एक प्रकार की यूनिक लेकिन सुरक्षित स्टोरेज फैसिलिटी है जिसमें क्रिप्टो करेंसी के ट्रांजैक्शंस की जानकारी Save होती हैं, और इस Blockchain Technology पर ही Bitcoin और लगभग अन्य सभी Cryptocurrencies आधारित होती हैं।

बिटकॉइन का अविष्कार किसने और कब किया? Who Invented Bitcoin in Hindi

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि टेक इंडस्ट्री में Bitcoin अब तक के सबसे बड़े अविष्कारों में से एक है। क्रिप्टोकरेंसी वर्तमान में अरबो डॉलर्स का मार्केट बन चुका है और यह लगातार बढ़ता जा रहा है और इस मार्केट की शुरुआत बिटकॉन से ही हुई है क्योंकि बिटकॉइन दुनिया की पहली क्रिप्टो करेंसी हैं।

Bitcoin के बारे में कहा जाता है कि इसका अविष्कार सतोशी नाकामोतो (Satoshi Nakamoto) ने किया हैं। लेकिन सतोषी कौन हैं, कहा रहते है और कैसे दिखते हैं इसके बारे में कोई नहीं जानता।

Blockchain प्रणाली का जनक भी Satoshi Nakamoto को ही माना जाता हैं। Bitcoin का अविष्कार 2008 में किया गया था और 2009 में इसे पब्लिक किया गया था।

बिटकॉइन का प्रोडक्शन कैसे होता हैं? How is Bitcoin Produced in Hindi

Bitcoin एक वर्चुअल करंसी हैं अर्थात आप इसे सामान्य सिक्को और नोटो की तरह उपयोग नहीं कर सकते। लेकिन जिस तरह से हम सामान्य डिजिटल करेंसी का PayTm और PhonePe जैसे ऍप्लिकेशन्स के माध्यम से इस्तमाल करते है उसी तरह से Bitcoin का यूज़ भी कर सकते हैं।

बिटकॉइन के प्रोडक्शन की प्रोसेस को ‘Bitcoin Mining’ कहा जाता हैं। बिटकॉइन माइनिंग का काम करने वाले ‘माइनर्स’ कहलाते हैं। बिटकॉइन माइनिंग में काफी ज्यादा मेहनत और ऊर्जा लगती हैं।

माइनिंग में बड़ी बड़ी मेथेमेटिकल्स प्रॉब्लम को सॉल्व किया जाता है और इसके लिए माइनर्स को काफी सीमित क्वांटिटी में बिटकॉइन एक रिवार्ड के रूप में मिलते हैं।

इसमे काफी ज्यादा पॉवर और एनर्जी कंज्यूम होती है और बिटकॉइन काफी सीमित मात्रा में मिलते हैं तो इसे बिटकॉइन कमाने का एक अच्छा तरीका नही माना जाता।

भारत में बिटकॉइन कैसे ख़रीदे और क्या यह लीगल हैं? How to Buy Bitcoin in India in Hindi

भारत में वर्तमान में क्रिप्टोकरंसी खरीदने और बेचने पर कानून बनाया जा रहा है लेकिन अब तक यह कानून लागू नहीं किया गया है तो ऐसे में वर्तमान में क्रिप्टोकरंसी खरीदने और बेचने पर कोई बैन नहीं है।

जी हाँ, बिटकॉइन या फिर किसी भी अन्य क्रिप्टो करेंसी का उपयोग करते हुए भुगतान करना जरूर इल्लीगल है लेकिन बिटकॉइन खरीदने और बेचने पर कोई बैन नहीं हैं।

बिटकॉइन खरीदने के लिए आपको Crypto Wallets का इस्तेमाल करना होगा। भारत मे काफी सारे Crypto Wallets अपनी सेवाएं दे रहे है, जिनमे से कुछ बेहतर विकल्प निम्न हैं:

  • CoinSecure
  • ZebPay
  • UnoCoin
  • WazirX

यह सभी Cryptp Wallets हैं। आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक अकाउंट, ईमेल एड्रेस, फोन नंबर आदि का इस्तेमाल करते हुए इन Crypto Wallets पर अकाउंट बनाया जा सकता हैं।

एक बार सफलतापूर्वक अकाउंट बन जाये, उसके बाद आप Cryptocurrency जैसे कि Bitcoin, Dogecoin और Matric आदि खरीदना शुरू कर सकते हो।

बिटकॉइन से पैसे कैसे कमाते हैं? How to Earn Money from Bitcoin in Hindi

बिटकॉइन से पैसे कमाने के काफी सारे तरीके हो सकते हैं, लेकिन इनमे से जो सबसे बेहतर और विश्वसनीय तरीका हैं वह Trading हैं। क्योंकि Bitcoin की कीमत लगातार घटती और बढ़ती रहती हैं तो इस पर ट्रेडिंग की जा सकती हैं।

जिस तरह से Stock Market में ट्रेडर्स Stocks को कम कीमत में खरीदकर अधिक कीमत में बेचते हैं और मुनाफा कमाते हैं, उसी तरह से Bitcoin को कम कीमत में खरीदकर अधिक कीमत में बेचे तो अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता हैं।

उदाहरण के तौर पर आज से कुछ सालों पहले Bitcoin की कीमत 65 रुपये से भी कम थी। अगर उस समय बिटकॉइन में 1000 रुपये की Long Term Investment की जाती तो आज वह Investment करोड़ो रूपये में बदल चुकी होती।

Bitcoin Trading क्या है और कैसे करते हैं? What is Bitcoin Trading in Hindi

पिछले कुछ समय में भारत में कुछ Crypto Applications ने क्रिप्टो करेंसी खरीदना और बेचना काफी आसान बना दिया है जिसकी वजह से अब भारत मे Crypto Trading भी काफी लोग करने लगे हैं।

जैसा कि मैंने आपको बताया Bitcoin की सप्लाई काफी लिमिटेड है तो ऐसे में अगर इसकी डिमांड बढ़ती है तो इसकी कीमत भी बढ़ जाती है और अगर इसकी डिमांड घटती है तो इसकी कीमत भी घट जाती है।

Bitcoin को खरीदना और बेचना ही ‘Bitcoin Trading’ (बिटकईं ट्रेडिंग) कहलाता हैं। कम कीमत में बिटकॉइन खरीदकर अधिक कीमत में बेचे तो ट्रेडिंग में बेनिफिट होता है और अगर अधिक कीमत में बिटकॉइन खरीद के कम कीमत में बेचे तो ट्रेडिंग में नुकसान होता है।

बिटकॉइन ट्रेडिंग करने के लिए आप किसी भी Crypto Apps जैसे कि WazirX, Unocoin या Zebpay का इस्तेमाल कर सकते हो।

क्या बिटकॉइन खरीदना सेफ हैं? Is Buying Bitcoin Safe in India

बिटकॉइन एक डिसेंट्रलाइज्ड क्रिप्टोकरंसी है और इसकी कीमत डिमांड सप्लाई के आधार पर लगातार घटती बढ़ती रहती है तो ऐसे में बिटकॉइन को खरीदना Safe और Unsafe नही माना जा सकता।

अगर आप High Value पर बिटकॉइन खरीदते हो और उसे Low Value पर बेचते हो तो वाकई में इसे खरीदना आपके लिए अनसेफ रहा है और अगर आप Low Value में बिटकॉइन खरीदकर High Value में बेचते हो तो इसे खरीदने आपके लिये बिल्कुल Safe हैं।

इसके अलावा क्योंकि यह पूरी तरह से डिसेंट्रलाइज्ड है तो अगर आपको इसमें बहुत बड़ा नुकसान भी हो जाता है तो आप किसी को दोष नहीं दे सकते और ना ही आप किसी के खिलाफ जा सकते हो।

ऐसे में Bitcoin या किसी भी क्रिप्टोकरंसी को खरीदने में रिस्क तो है तो आप उतना ही पैसा निवेश करें जितना आपको बहुत ज्यादा नुक्सान ना पहुचाये।

भारत मे बिटकॉइन का फ्यूचर क्या हैं? Future of Bitcoin in India in Hindi

क्योंकि बिटकॉइन एक डिसेंट्रलाइज्ड क्रिप्टो करेंसी है तो ऐसे में इसको ट्रैक करना भी थोड़ा मुश्किल है। इसके अलावा बिटकॉइन का अधिक उपयोग कई तरह से नकारात्मक भी है। कई देशों में क्रिप्टोकरंसी को बैन भी किया जा चुका है और भारत में भी वर्तमान में Cryptocurrency के ऊपर कानून तैयार किया जा रहा है और यह कानून Cryptocurrency के फ्यूचर को खतरे में भी डाल सकता हैं।

इसके अलावा वर्तमान में भी भारत में क्रिप्टोकरंसी के द्वारा भुगतान करने पर बैन है। फिलहाल जब तक क्रीप्टो करेंसी के ऊपर बनाया जा रहा कानून लागू नही हो जाता तब तक Crypto पूरी तरह से भारत मे Safe हैं लेकिन इस कानून के आने के बाद ही इसका फ्यूचर एस्टीमेट किया जा सकेगा।

यह भी जाने: digital marketing course in Hindi

हैल्लो , आपका itwebcompany.com पर स्वागत है। हमें इंटरनेट के बारे में जानकारी देना बहुत ही पसदं है। हम आपको यहाँ blogging, SEO, WordPress, YouTube और Digital marketing के बारे में जानकारी देते है। आप हमें सीधे हमारी Email Id से जुड़ सकते है। हमारा Email id [email protected] किसी तरह की मदद के लिए आप हमें [email protected] पर contact करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here