5G क्या हैं और यह कैसे काम करता हैं? फायदे व नुक्सान सहित पूरी जानकारी हिंदी में

वर्तमान में जिन विषयो पर आधुनिक तकनीकी दुनिया मे सबसे अधिक बात की जा रही हैं उनमें से एक 5G भी हैं। कुछ साल पहले देश के सबसे बड़े व्यवसायी और उद्योगपति मुकेश अम्बानी ने Jio लॉन्च की थी जिससे 4G ने भारत मे प्रवेश किया था।

Jio के सस्ते इंटरनेट दामो की वजह से इंटरनेट और स्मार्टफोन्स दोनो के क्षेत्रों में क्रांति देखने को मिली। 4G इसकी पिछली जनरेशन 2G और 3G के मुकाबले वाकई में काफी अधिक तेज और स्मूथ था और अब 5G आ रहा हैं जो 4G से भी ज्यादा एडवांस रहेगा।

5G को लेकर लोगो के दिमाग मे काफी सारे सवाल हैं और हाल ही में इसको लेकर कुछ बवाल भी हुए हैं तो इसके बारे में जानने की जिज्ञासा पैदा होनी ही हैं।

इस लेख में हम ‘5G क्या हैं, 5G कैसे काम करता हैं, 5G के फायदे और नुक्सान’ जैसे विशेष विषयो के साथ कई अन्य रोचक विषयो पर चर्चा करते हुए ‘5G की पूरी जानकारी हिंदी में’ देंगे।

What is 5G in hindi
What is 5G in hindi

यह भी जानें: Bitcoin क्या है

5G क्या हैं – What is 5G in Hindi

5जी एक फिफ्थ जनरेशन सेलुलर मोबाइल नेटवर्क हैं जो 1G, 2G, 3G और 4G के बाद आ रहा हैं। सरल भाषा मे 4G का सक्सेसर ही 5G हैं। जिस तरह से 3जी 2जी से तेज और बेहतर था और 4जी 3जी से तेज हर बेहतर था उसी तरह से 5जी भी 4जी से अधिक तेज होगा।

वर्तमान में हमारे देश मे 4जी सेलुलर नेटवर्क सबसे अधिक उपयोग किया जाता हैं। साल 2019 से दुनिया भर की टेलीकॉम कंपनियों ने 5जी पर काम करना शुरू कर दिया था।

भारत उन देशों में से एक है जहां 5जी पर तेजी से कम किया जा रहा हैं और 5जी सबसे अधिक जहा यूज किया जाने वाला हैं।

5जी एक तरह के नेटवर्क को कहा जा सकता हैं जो इंटरनेट और अन्य फेसिलिटीज के साथ ऑब्जेक्ट्स, मशीन्स और डिवाइसेज को वर्चुअली कनेक्ट करने में मदद करता हैं। 5जी को समझने के लिए दिमाग पर अधिक जोर डालने की जरूरत नहीं हैं, केवल यह काफी हैं कि यह 4जी का सक्सेजर सेलुलर नेटवर्क होगा जो 4जी से अधिक तेज और स्मूथ होगा और जिसमे अधिक बेहतर तरीको से सुविधाओ का इस्तेमाल किया जा सकेगा।

5जी के बारे में कहा जा रहा हैं कि यह अधिक स्टेबल होगा, बेहतरीन यूजर एक्सपीरियंस देगा और साथ मे 4G के मुकाबले इसमे स्पीड भी काफी अधिक मिलेगी जिससे अधिक डिवाइज एक साथ सेलुलर नेटवर्क के लिए ही काम कर सकेंगे।

5जी कैसे काम करता हैं? How 5G Works in Hindi

5जी के काम करने के तरीके को समझने के लिए सबसे पहले आपको जानना होगा कि सेलुलर नेटवर्क कैसे काम करते हैं। सभी सेलुलर नेटवर्क फिर चाहे वो 3जी हो या 4जी या फिर 5जी, इनमे सेवा क्षेत्र को छोटे भौगोलिक क्षेत्रों में विभाजित कर दिया जाता है जिन्हें सेल के नाम से जाना जाता हैं।

सेल में सभी 5G वायरलेस डिवाइस सेल में एक स्थानीय एंटीना (जिसे हम सामान्य भाषा मे Tower भी कहते हैं) के माध्यम से Radio Waves द्वारा Internet और Telephone Network से जुड़े होते हैं।

इसी तरह से 5G काम करेगा, लोकल एंटीनाज के माध्यम से Radio Waves जनरेट होगी जो डिवाइज को 5जी सेलुलर नेटवर्क से जोड़ेगी जिससे वह Internet सहित अन्य फेसिलिटीज जैसे कि Calling और SMS आदि एक्सेस कर पाएंगे।

5जी 4जी से बेहतर कैसे होगा? 5G Vs 4G Comparison in Hindi

जाहिर-सी बात हैं कि अगर किसी चीज की नई जनरेशन आ रही है तो वह पहले वाली से विकसित और बेहतर ही होगी, फिर भले वह कोई Cellular Network ही क्यों ना हो।

ऐसे काफी सारे कारण हैं जो 5जी को 4जी से बेहतर बनाते हैं और उन्ही में से कुछ इस प्रकार हैं:

  • 5जी 4जी के मुकाबले काफी तेज होगा।
  • 5जी की कैपेसिटी की 4जी के मुकाबले अधिक होगी।
  • 5जी की लेटेंसी 4जी के मुकाबले कम होगी।
  • 5जी एक एकीकृत प्लेटफार्म (Unified Platform) प्रदान करेगा जो अधिक कैपेबल होगा।
  • 5जी 4जी के मुकाबले अधिक स्पेक्ट्रम यूज करेगा।

5जी के आने के क्या फायदे होंगे? Benefits of 5G in Hindi

क्योंकि 5जी 4जी का सक्सेजर हैं और वर्तमान में भारत टेलीकॉम कम्पनिया दुनिया की सबसे अधिक, बेहतर और विकसित टेलिकॉम कम्पनियो में से एक हैं तो भारत के नागरिकों को 5जी के आने से कई फायदे मिलेंगे। 5G के जो मुख्य फायदे होंगे, वह कुछ इस प्रकार हैं:

  • 5G 4जी के मुकाबले अधिक तेज होगा।
  • बिजनेस जो इंटरनेट का उपयोग करते हैं वह इसकी कैपेबिलिटी की वजह से इसका उपयोग कर पाएंगे।
  • 5जी के आने से 4जी के मुकाबले ज्यादा स्पेक्टम यूज होगा जिससे ज्यादा बेनिफिट जनरेट होगा।
  • 5जी इंटरनेट यूजर्स को बेहतरीन युजर एक्सपीरियंस प्रदान करेगा।
  • स्ट्रीमिंग अभी के मुकाबले काफी ज्यादा स्मूथ हो जाएगी।
  • स्मार्टफोन के क्षेत्र में भी बेहतरीन स्मार्टफोन्स कम कीमत में देखने को मिलेंगे।
  • आकड़ो के मुताबिक पूरी दुनिया मे 5जी के आने से 22.8 मिलियन नई जॉब्स क्रिएट होगी।

5जी के आने से क्या नुकसान होंगे? Disadvantages of 5G in Hindi

फिलहाल इस बारे में कोई खास जानकारी नहीं हैं कि भारत मे 5जी को कैसे डेवलप किया जाएगा और कब तक यह देश के हर उस इलाके में पहुंच पाएगा।

जहां वर्तमान में 4जी और पिछली जनरेशन्स के नेटवर्क यूज किये जाते हैं। लेकिन इसके कुछ नुकसान भी ही सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

बाधाए जैसे कि दीवार या खराब मौसम 5जी की कनेक्टिविटी को प्रभावित कर सकता हैं।

इसको सटीक रुप से प्रभावित बनाने के लिए शुरुआत में जो लागत लगेगी वह काफी ज्यादा होगी।

रूरल या भी कहा जाए तो अनडेवलप्ड एरिया रहेंगे वहा इसकी लिमिटेशन रह सकती हैं।

डिवाइज में बैटरी ड्रेन्स की समस्या पाई जा सकती हैं।

अपलोड स्पीड डाउनलोड स्पीड के साथ मैच नही करती हैं।

अधिक विकास और अधिक टावर आदि के लगाने से जमीनों को नुकसान पहुचेगा, प्रकृति को भी हानि होगी।

5जी इकोनामी पर किस प्रकार से प्रभाव डालेगा? How 5G will affect Economy in Hindi

5G एक ड्राइविंग ग्लोबल ग्रोथ का प्रतीक होगा जो तेजी से फैल रहा है और जल्द ही भारत में भी एक बड़े स्तर पर इसका इस्तेमाल किया जाएगा। आकड़ो के अनुसार 13.1 ट्रिलियन डॉलर्स की ग्लोबल इकोनॉमी आउटपुट क्रिएट करेगा और साथ में 22.8 मिलियन नई जॉब्स भी इससे तैयार हुई हैं।

भारत मे 5जी के आने से ना केवल टेलीकॉम कंपनी के द्वारा रोजगार तैयार किए जाएंगे बल्कि साथ में काफी सारी छोटे व्यवसाय को जो इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं काफी मदद मिलेगी।

5जी काफी अधिक कैपेबल होगा जो सेल्यूलर नेटवर्क होते हुए भी छोटे व्यवसायों की रिक्वायरमेंट्स पूरा कर सकेगा जिससे उनका खर्चा बचेगा। इस वजह से और अन्य कई कारणों से 5जी व्यवसायों की काफी मदद करेगा।

यह भी जानें: business को online कैसे करें

हैल्लो , आपका itwebcompany.com पर स्वागत है। हमें इंटरनेट के बारे में जानकारी देना बहुत ही पसदं है। हम आपको यहाँ blogging, SEO, WordPress, YouTube और Digital marketing के बारे में जानकारी देते है। आप हमें सीधे हमारी Email Id से जुड़ सकते है। हमारा Email id [email protected] किसी तरह की मदद के लिए आप हमें [email protected] पर contact करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here